Who was the Chief Guest on 63rd Republic Day

गणतन्त्र दिवस भारत का एक राष्ट्रीय पर्व

डॉ. आंबेडकर जी ने 2 वर्ष, 11 माह, 18 दिन में भारतीय संविधान का निर्माण किया और संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को 26 नवम्बर 1949 को भारत का संविधान सुपूर्द किया, इसलिए 26 नवम्बर दिवस को भारत में संविधान दिवस के रूप में प्रति वर्ष मनाया जाता है। 




गणतन्त्र दिवस भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है जो प्रति वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है। इसी दिन सन् 1950 को भारत सरकार अधिनियम (एक्ट) (1935) को हटाकर भारत का संविधान लागू किया गया था।


एक स्वतंत्र गणराज्य बनने और देश में कानून का राज स्थापित करने के लिए संविधान को 26 नवम्बर 1949 को भारतीय संविधान सभा द्वारा अपनाया गया और 26 जनवरी 1950 को इसे एक लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ लागू किया गया था।

26 जनवरी को इसलिए चुना गया था क्योंकि 1930 में इसी दिन भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आई० एन० सी०) ने भारत को पूर्ण स्वराज घोषित किया था।

गणतंत्र दिवस समारोह

26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोह पर भारत के राष्ट्रपति द्वारा भारतीय राष्ट्र ध्वज को फहराया जाता हैं और इसके बाद सामूहिक रूप में खड़े होकर राष्ट्रगान गाया जाता है।

गणतंत्र दिवस को पूरे देश में विशेष रूप से भारत की राजधानी दिल्ली में बहुत उत्साह के साथ मनाया जाता है।

गणतंत्र दिवस परेड के मुख्य अतिथि

सामान्यतः मुख्य अतिथि किसी राज्य या सरकार के प्रमुख होते हैं। इन मुख्य अतिथियों का चयन भी भारत के कूटनीतिक और आर्थिक रुख के परिणाम के लिए और आने वाले वर्षों के लिए राग (टोन) को तैयार करने के लिए किया जाता है।
भारत द्वारा आमंत्रित होने के नाते, आयोजित होने वाले महत्वपूर्ण कार्यक्रमों में उपस्थित होने के लिए, दो देशों के बीच आर्थिक और सैन्य सहयोग के बंधन को मजबूत करने के लिए यह अतिथियों के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर भी है।

गणतंत्र दिवस के लिए मुख्य अतिथि का चयन करने में अंतर्राष्ट्रीय भू-राजनीति और रणनीतिक गठबंधन भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

63 वें गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि (Chief Guest on 63rd Republic Day )



प्रधानमंत्री  यिंगलुक शिनावात्रा थाईलैंड

Thailand Prime Minister Yingluck Shinawatra


Prime Minister Yingluck Shinawatra 


Chief Guest on 63rd Republic Day Prime Minister Yingluck Shinawatra

Post a comment

0 Comments