Happy independent Day Special Shayri In Hindi

Indipendance special shayri , 15 August shayri , 15 August , aazadi shayri , Desh shayri , Hindustan , 15 August status , independent status 

15_August_special_Shayari


दे सलामी इस तिरंगे को
जिस से तेरी शान हैं,
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका
जब तक दिल में जान हैं..!!
Jai Hindi, Jai Bharat



ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई ,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता ,
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई ,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता

Happy Independence Day 2018

संस्कार और संस्कृति की शान मिले ऐसे,
हिन्दू मुस्लिम और हिंदुस्तान मिले ऐसे
हम मिलजुल के रहे ऐसे की
मंदिर में अल्लाह और मस्जिद में राम मिले जैसे.

Happy Indian Independence Day 2018

Ye bat hawao ko bataye rakhna,
Roshni hogi chirago ko jalaye rakna,
Lahu dekr jiski hifazat hamne aise,
Tirange ko sada dil me basaye rakhna.

Kuchh nasha Tirange ki aaan ka hain,
Kuch nasha Matrbhumi ki shaan ka hai
Hum lahrayenge har jagah ye Tiranga
Nasha ye Hindustan ki shaan ka hain..!!

Na sar jhuka hai kabhi
Aur na jhukayenge Kabhi,
Jo apne dum pe jiye sach me zindagi h wahi
Live like a true INDIAN.
HAPPY INDEPENDENCE DAY.

Dil hamare ek hai ek hai hamari jaan,
Hindustan hamara hai hum hai iski shaan,
Jaan luta denge watan pe ho jayenge qurban
Isliye hum kehte hain mera Hindustan mahan.
Wish You Happy Independence Day



Aao desh ka samman karein..
Shahido ki shahadat yaad kare
Ek baar phir se rashtra ki kamaan,
Hum hindustani apne haath dhare,
Aao Swatantrata diwas ka maan kare
Swatantrata Diwas Ki

मुकम्मल है इबादत और मैं वतन ईमान रखता हूँ,
वतन के शान की खातिर हथेली पे जान रखता हूँ !!
क्यु पढ़ते हो मेरी आँखों में नक्शा पाकिस्तान का ,
मुस्लमान ..हूँ मैं सच्चा, दिल में हिंदुस्तान रखता हूँ !!

हिंदुस्तान ज़िंदाबाद, ...जय हिन्द, जय भारत

संस्कार और संस्कृति की शान मिले ऐसे,
हिन्दू मुस्लिम और हिंदुस्तान मिले ऐसे
हम मिलजुल के रहे ऐसे की
मंदिर में अल्लाह और मस्जिद... में राम मिले जैसे.

Happy Indian Independence Day 2018

दे सलामी इस तिरंगे को
जिस से तेरी शान हैं,
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका
जब तक दिल में जान हैं....

गंगा यमुना यहाँ नर्मदा,
मंदिर मस्जिद के संग गिरजा,
शांति प्रेम की देता.. शिक्षा,
मेरा भारत सदा सर्वदा.

ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई ,
मगर वतन से खूबसूरत ...कोई सनम नहीं होता ,
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई ,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता

Happy Independence Day 2018

मैं भारत बरस का हरदम... अमित सम्मान करता हूँ
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।
ज़माने भर में मिलते हे... आशिक कई ,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता ,
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई ,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता

Nahi sirf jashn manana,
Nahi sirf jhande lehrana,
Yeh kaafi nahi hai watanparasti,
Yadon ko nahi bhulana,
Jo qurbaan hue,
Unke lafzon ko aage badhana,
Khuda ke liye nahi ..
Zindagi watan k liye nibhana..
Happy Independence Day




Indipendance special shayri , 15 August shayri , 15 August , aazadi shayri , Desh shayri , Hindustan , 15 August status , independent status , 15 August , Shayri , status , 

Post a Comment

0 Comments