21वीं सदी का सबसे लंबा पूर्ण चंद्र ग्रहण





साल 2018 का दूसरा पूर्ण चंद्र ग्रहण आज है. यह भारत में भी नजर आएगा. ये पूर्ण चंद्र ग्रहण भारत समेत विश्व के कई देशों में देखा जा सकेगा. आज रात 11 बजकर 54 मिनट से पृथ्वी की काली छाया चंद्रमा को स्पर्श कर लेगी और आंशिक चंद्र ग्रहण शुरू हो जाएगा. ये ग्रहण का शुरुआती हिस्सा होता है जब पृथ्वी की छाया का बाहरी हिस्सा चंद्रमा को ढकना शुरू कर देता है. इस स्थिति में चंद्रमा का कोई हिस्सा कटा हुआ नज़र नहीं आता बल्कि ऐसा प्रतीत होता है कि कोई गहरी छाया चंद्रमा पर छाती जा रही है.



ग्रहण की बड़ी बातें:



  • यह चंद्रग्रहण शताब्दी का सबसे बड़ा चंद्रग्रहण है.

  • 104 साल बाद चंद्रग्रहण इस अवस्था में दिखाई देगा.

  • इस चंद्रग्रहण के समय मंगल भी पृथ्वी के निकट होगा.

  • इस चंद्रग्रहण में चंद्रमा के तीन रंग दिखेंगे जिसमें एक रंग ब्लड मून जैसा होगा.

  • यह चंद्रग्रहण रात को 11 बजकर 54 मिनट और 26 सेकेंड से शुरू होगा.

  • यह एक पूर्ण चंद्रग्रहण होगा.

  • इस चंद्रग्रहण का मोक्ष 28 जुलाई की सुबह 3 बजकर 49 मिनट पर होगा.

  • चंद्रग्रहण के शुरू होने से 9 घंटे पहले सूतक लग जाता है.

  • इस चंद्रग्रहण का सूतक शाम 2 बजकर 54 मिनट पर शुरू होगा.

  • चंद्रग्रहण के दिन जप और तप का बड़ा लाभ होता है.

  • चंद्रग्रहण के दौरान मंगल काम नहीं करना चाहिए.

  • रोगी, बुजुर्ग, गर्भवती महिलाओं के लिए सूतक का कोई बंधन नहीं होता है.

  • ग्रहण 2018: आज लाल दिखाई देगा चांद, जानें- राशियों पर क्या होगा असर


किसपर होगा चंद्र ग्रहण का ज्यादा असर ?

  • मकर राशि में चंद्र ग्रहण पड़ रहा है, मंगल और केतु पहले ही मौजूद हैं.

  • चंद्र ग्रहण मकर राशि को ज्यादा प्रभावित करेगा.

  • चंद्र ग्रहण कर्क राशि को भी प्रभावित करेगा.

  • चंद्र ग्रहण सिंह, कन्या, धनु और कुंभ राशि को थोड़ा प्रभावित करेगा.

  • वृष राशि वालों को ध्यान से चलना होगा.

  • मेष राशि वाले के लिए समय सामान्य है.

चंद्र ग्रहण किन राशियों को देगा लाभ ?

  • मिथुन, तुला, वृश्चिक और मीन राशि वालों को चंद्र ग्रहण से होगा लाभ.

  • चंद्रमा खराब या कमजोर होने की स्थिति में ऐसे लोगों को ग्रहण नुकसान पहुंचाएगा.

  • चंद्रमा बेहतर होने पर ग्रहण नुकसान नहीं पहुंचाएगा.

चंद्र ग्रहण का क्या असर होगा ?

  • अगले 2-3 दिनों में कहीं अधिक बारिश हो सकती है.

  • बारिश संबंधी आपदा भी आ सकती है.

  • लोगों की मानसिकता, राजनीति और पड़ोसियों के साथ संबंध पर असर पड़ेगा.

  • इस प्रकार का चंद्र ग्रहण आग को बढ़ावा देता है.

  • केमिकल से दुर्घटनाएं, सड़क दुर्घटनाएं और हवा से दुर्घटनाओं के योग हैं.

  • मन में विकारों और क्रोध को बढ़ाता है.

  • जिन राशियों पर चंद्र ग्रहण का अच्छा प्रभाव नहीं है वो अगले 6 महीने ख्याल रखें.

  • चंद्रमा के अच्छी स्थिति में होने के बाद भी दिमाग पर नकारात्मक असर हावी ना हो, ख्याल रखें.

  • चंद्र ग्रहण के कारण समाज में क्रोध और अपराध बढ़ेंगे.

ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं क्या करें?

  • चंद्र ग्रहण से गर्भवती महिलाओं को डरने की जरूरत नहीं है.

  • गर्भ पर चंद्र ग्रहण का कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा.

  • जो महिलाएं गर्भ के अंतिम महीने में हैं वो कुछ बातों का ख्याल रखें.

  • गर्भ का प्रथम और अंतिम महीना चंद्रमा का होता है.

  • प्रोजेस्ट्रॉन हॉर्मोन्स इससे प्रभावित होते हैं.

  • चंद्र ग्रहण के दौरान शरीर पर चांदी धारण करें, सोना नहीं.

  • 15 दिन तक चांदी धारण करें.

  • चांदी के गिलास में जल पिएं.

  • अगले एक महीने तक ठंडी चीजों का सेवन ना करें.

क्या करें, क्या ना करें?

  • ग्रहण के दौरान पृथ्वी पर कुछ नकारात्मक ऊर्जाओं का उत्पन्न होता है.

  • ग्रहण के दौरान कुछ गैस और कीटाणु उत्पन्न होते हैं.

  • घर में बासी भोजन ना रखें, बासी भोजन हो तो उसे ढककर रखें.

  • तुलसी और हल्दी का इस्तेमाल करें, एंटीबायोटिक्स लें.

  • गर्भवती महिलाओं के पास तुलसी का पौधा या हल्दी रख दें.

  • सूतक के दौरान भोजन ना करें.

  • सूतक से लेकर ग्रहण के अंतिम समय तक का वक्त साधना के लिहाज से उच्च होता है.

  • ये समय पूजा-पाठ और धार्मिक कार्यों के लिहाज से श्रेष्ठ माना जाता है.

  • सूतक के वक्त ईश्वर और अपने अंदर की ऊर्जा को जागृत करने की कोशिश करें.

  • सूतक के दौरान आप नकारात्मक से सकारात्मक दिशा की तरफ बढ़ सकते हैं.

  • आत्मविश्वास प्राप्ति के लिए सर्वश्रेष्ठ समय है.

  • सूतक के दौरान आप लगातार जप करते रहें.

  • बीमार, बुजुर्ग और गर्भवती महिलाओं पर सूतक पर कोई नियम लागू नहीं होता.

  • दवा वक्त पर लेते रहें, परहेज करें.

Post a comment

0 Comments